Facebook Youtube Instagra Linkedin Twitter

बिज़नस किन ग्रहों से प्रभावित है और किस ग्रह के अंतर्गत आता है

Share

Deepika Maheshwari 13th Sep 2019

आजकल अनेक प्रकार के बिज़नस व्यवसाय किए जाते है पर बिज़नसमैन या नौकरी व्यवसाय करने वाले को ये नहीं मालूम होता कि उनका बिज़नस किन ग्रहों से प्रभावित है और किस ग्रह के अंतर्गत आता है प्राय देखा गया है कि बिज़नस मे उतार चढ़ाव आता रहता है पुराना बिज़नस व्यवसाय बंद भी करना पड़ जाता है, पैसा फस जाता है, कर्मचारी नहीं टिकते, जो भी बिज़नस हम करते है वो किसी ग्रह के अधीन होता है और हमारी कुण्डली मे हो सकता है कि वो ग्रह बलहीन हो कमज़ोर हो इस कारण उस से संबंधित व्यापार जॉब मे रुकावट आती रहती है, नौकरी मे प्रमोशन नहीं होती, अधिकारी तंग करते है, काम करने वाले संगी साथी सहयोग नहीं करते, काम मे मन नहीं लगता, मेहनतआना, तनखा टाइम पर नहीं मिलती मेहनत का पूरा फल नहीं मिलता, अगर हम उस ग्रह को प्रसन्न करे, और उस के उपाए करें तो हो सकता है, कि हमारा बिज़नस बढ़ जाए, रुकावट दूर हो जाए, प्रमोशन हो जाए, आइए जानते है कि कोन कोन से व्यापार व्यवसाय नौकरी कार्य किस किस ग्रह के अंतर्गत आते है और उन के उपाए क्या है -: सूर्य: समाजिक कार्यकर्ता , पिता का व्यवसाय, लीडरशिप, राजनीति, दिल के डॉक्टर, चिकित्सा क्षेत्र, विद्युत विभाग, होटल मैनेजमेन्ट, रेलवे विभाग, आभूषण खरीदना-बेचना, रत्न बेचना, ठेकेदारी, सरकार से संबंधित कार्य, लकड़ी का कार्य, विद्युत उपकरण, मेडिकल स्टोर, जनरल स्टोर, कपड़े का कार्य, वाहनों का क्रय-विक्रय, पुस्तक भण्डार, अनाजों का खरीदना-बेचना, सरकारी नौकरी, अधिकारी वर्ग आदि प्रकार के व्यवसाय से जुड़े लोगों की कुंडली में सूर्य का शुभ होना अनिवार्य है। अगर नहीं है तो उपाए करें इन क्षेत्रों में व्यापार या नौकरी करने वाले जातकों को सूर्य देव की आराधना करने से लाभ होता है।सूर्य बीज मंत्र रोज 108 बार रुद्राक्ष या लाल चंदन माला से रोज करें शिव उपासना करें सूर्य को जल दें अगर बड़ा जप करवाना हो तो इस प्रकार होगा, सूर्य – ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय नमः जप संख्या – 7000x रत्न - माणिक चंद्र: शिपिंग, नमक व्यापार, फल विक्रेता, खेती बाड़ी, नर्स, कॉमपोंडेर, मनोचिकित्सक, बच्चो के अनाथालय, नर्सरि के टीचर केयर टेकर , एजेंट, घूम घूम कर बेचना, किराना, समुद्री खाना, कहानीकार, दवा विक्रेता, बागवानी का कार्य, कृषि कार्य, तरल पदार्थो का व्यापार, आयुर्वेदिक दवाओं का व्यापार, बिजली की दुकान, मोटर पार्ट्स, पेट्रोल पम्प, कोल्ड ड्रिंक, पानी, संगीत एकेडमी, होटल, रेस्टोरेन्ट, मिटटी का कार्य, ठेकेदारी, प्रकाशन,दूध की डेरी, सरकारी जॉब, आदि क्षेत्रों में बिजनेस जॉब करने वाले लोगों की कुंडली में चंद्रमा ग्रह बलवान होना चाहिए। अगर नहीं है तो उपाए करें इन जातकों को चंद्र देव की उपासना करनी चाहिए।चंद्रमा मंत्र 108 बार रोज सफेद चंदन की माला से करें सोमवार को शिवलिंग या मंदिर मे दूध चढ़ाएं शिव उपासना करें चंद्रमा – ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चंद्रमस्ये नमः जप संख्या – 11000x रत्न - मोती मंगल: हथियार निर्माण, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, हार्डवेयर, इलेक्ट्रानिक इंजीनियर, भूमि, मेडिकल सामान , पेट्रोल पम्प, सर्जरी का सामान, कोर्ट-कचहरी, ठेकेदारी, मेडिकल की दुकान, धर्म उपदेशक, औषधि निर्माण कारखाने, पुलिस सेना नौकरी, प्रोपर्टी डीलिंग, साहस के कार्य, भट्टी का काम, पत्थर तोड़ना ग्रेनाइट इंडस्ट्री ईंट, राजनीति, मृत्यु से संबंधित कार्य, पॉटरी, मशीन पार्ट्स, कारपेंटर, जैसा व्यवसाय नौकरी करने वाले लोगों को मंगल ग्रह को प्रसन्न करने के उपाय करने चाहिए। इन जातकों की कुंडली में मंगल ग्रह का मजबूत होना जरूरी है अगर नहीं है तो उपाए करें मंगल बीज मंत्र का जप लाल चंदन माला से 108 बार रोज करें, हनुमान जी को शक्कर बूंदी गुड सिंदूर चढ़ाएं, अगर बड़ा जप करवाना हो तो इस प्रकार होगा मंगल – ॐ क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नमः जप संख्या – 10000x रत्न - मूंगा बुध: पर्यटन, टेलीफोन, तम्बाकू, पान मसाला, परीक्षक, अकाउंटेंट, कत्था, किमाम, पुस्तकों के थोक विक्रेता, दूर संचार विभाग की ठेकेदारी, रेलवे के पार्टो का कारखाना, चूडि़यों का व्यापार, कपड़े का व्यापार, हरी वस्तुओं का व्यापार, मार्केटिंग का बिजनेस तथा फर्नीचर, समाचार पत्र का काम, जनरल स्टोर, ज्योतिष, क्लर्क, लेखक, जर्नलिस्ट, वक्ता, राजदूत, इम्पोर्ट एक्सपोर्ट कथा वाचक, प्रिंटिंग, पेंटिंग ड्राइंग, अडवाईसरी, लीगल ऐड आदि का व्यवसाय नौकरी करने वाले लोगों को बुध ग्रह को प्रसन्न करना चाहिए। इन क्षेत्रों में व्यापार करने वाले लोगों की कुंडली में बुध ग्रह मजबूत होना जरूरी है अगर नहीं है तो उपाए करें बुध बीज मंत्र का 108 बार तुलसी माला या सफेद चंदन से जप करें गाय को हरा चारा खिलाएँ, दुर्गा विष्णु भगवान की उपासना करें अगर बड़ा जप करवाना हो तो इस प्रकार होगा बुध – ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नमः जप संख्या – 9000x रत्न - पन्ना गुरु ज्योतिष का कार्य, इंश्योरेंस, कर्मकाण्ड, मैनेजर मिनिस्टर, वकील, कानून बनाने वाले, जज, बैंकिंग, फ़ाइनेंस उधार देना, सम्पादन कार्य, थोक विक्रेता, पूजन भण्डार, पान की दुकान, मिठाई की दुकान, फिल्म मेकर, आभूषण के विक्रेता, पीली वस्तुओं का व्यापार, वक्ता, नेता, शिक्षा विद, शेयर बाजार , पुजारी, प्रोफेसर, टीचर, आदि का व्यवसाय जॉब करने वाले लोगों को गुरु ग्रह को खुश करने के उपाय करने चाहिए। इनकी कुंडली में गुरु का मजबूत होना अति आवश्यक होता है अगर नहीं है तो उपाए करें गुरु बीज मंत्र का हल्दी माला से 108 जप करें केला चने की दाल मंदिर मे चढ़ाएं विद्या को फ्री मे प्रचार करें या दान करें अगर बड़ा जप करवाना हो तो इस प्रकार होगा विष्णु भगवान की उपासना करें बृहस्पति – ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नमः जप संख्या – 19000x पीला पुखराज शुक्र आर्टिस्ट, गाने बजाने का काम, इत्र का कार्य,रेस्टोरेन्ट, सौन्दर्य प्रसाधन, शिल्प कार्य, साहित्य, फिल्म विज्ञापन, परिवहन विभाग की ठेकेदारी, वस्त्रों का व्यापार, हीरे का बिजनेस, सफेद वस्तुओं का कार्य, खनिज कार्य, पेन्टिंग, कवि, परिवहन विभाग, शराब, वैश्य वृति, शादी विवाह इंडस्ट्री, ब्यूटी प्रोडक्ट, कपड़ा, शोकेस चीजें, पर्यटन विभाग, रेसलिंग, टीवी शो, एक्टर, भोग विलास का सामान, मार्केटिंग, हाउसकीपिंग, होटेल इंडस्ट्री, हॉस्पितेलिटी इंडस्ट्री, पब्लिक रिलेशन, इंटरनेट, कमिशन एजेंट, थियेटर, वकील, से सम्बन्धित क्षेत्रों में व्यवसाय जॉब करने वाले लोगों के लिए शुक्र ग्रह का शुभ व बलवान आवश्यक होता है।अगर नहीं है तो उपाए करें शुक्र बीज मंत्र का स्फटिक माला से 108 जप करें मंदिर मे शुक्रवार को पान चढ़ाएं जरूरत मंद स्त्रियों को दान करें विवाह इत्यादि मे सहयोग करें, मंदिर मे घी का दिया जलाएं अगर बड़ा जप करवाना हो तो इस प्रकार होगा शुक्र – ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नमः जप संख्या – 18000x रत्न - हीरा, ओपल शनि लोहे का काम, वकालत, सिक्यूरिटी एजेंसी, खनिज विभाग, तकनीकी कार्य, कृषि कार्य, काली वस्तुओं का व्यापार जैसे- तिलहन काले तिल आदि, ट्रांसपोर्ट का कार्य, मुर्गी पालन, माईनिंग, बिजली का कार्य, लोहे का कार्य, शिल्पकला का कार्य, कृषि कार्य, भार धोने वाले वाहन, मजदूरी, क्लर्क, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, भूमि क्रय विक्रय, न्यायधीश, वकील, कोर्ट मे काम करने वाले, वाहन की ऐजेन्सी से संबंधित क्षेत्रों में व्यवसाय जॉब करने के लिए शनि का मजबूत होना जरूरी है।अगर नहीं है तो उपाए करें इन क्षेत्रों में बिजनेस करने वाले लोगों को शनि देव को प्रसन्न करने के उपाय करने चाहिए। शनि बीज मंत्र का 108 जप रुद्राक्ष माला से करें मजदूरों की सेवा करें शनि देव उपासना करें मंदिर मे तेल का दिया जलाएं शनि – ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नमः जप संख्या – 23000x रत्न-नीलम राहु कुली, ड्राइवर, रिक्शा खींचने वाले, मजदूरी, पत्थर की खान, गार्डेनिंग , शू इंडस्ट्री, लकड़ी तराश, राजनीतिज्ञ , रक्षा मंत्रालय, जासूसी, वैग्यानिक, चोरी, ठग विद्या, बेवकूफ़ बनाना, रिश्वत लेना देना, वैश्यावृति, सिगरेट इंडस्ट्री , खाद उद्योग, पुरानी वस्तुओं की खरीद फरोख्त, फ़िल्म उद्योग, सांप जहर संबंधित कार्य, विदेश, फोटोग्राफी संबंधित क्षेत्रों में व्यवसाय जॉब करने के लिए राहु का मजबूत होना जरूरी है।अगर नहीं है तो उपाए करें इन क्षेत्रों में बिजनेस करने वाले लोगों को राहु देव को प्रसन्न करने के उपाय करने चाहिए। राहु के बीज मंत्र का रोज 108 बार पाठ करें मंदिर मे मूली चढ़ाएं गरीबों कोढीयों को खाना दान करें सेवा करें भैरव उपासना करें मंदिर मे तेल का दिया जलाएं राहु – ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नमः जप संख्या – 18000x रत्न-गोमेद केतु डाक्टरी, पुजारी, ज्योतिष , गुप्त विद्या, हीलर, संत, योग, फकीर, जड़ी बूटी, दवाई, धार्मिक गुरु, टाइल ईंट इंडस्ट्री, रस्सियों का काम, केबल कार्य, हैंडलूम, वकील, फिशिंग, सांप जहर उद्योग, भिखारि, दान लेना, स्पिइनिंग मिल संबंधित क्षेत्रों में व्यवसाय करने के लिए केतु का मजबूत होना जरूरी है।अध्यात्म के लिए तो विशेष तौर पर, अगर बलवान नहीं है तो उपाए करें इन क्षेत्रों में बिजनेस नौकरी करने वाले लोगों को केतु देव को प्रसन्न करने के उपाय करने चाहिए। केतु के बीज मंत्र का 108 जप रुद्राक्ष माला से करें गणेश की पूजा करें तिल तेल कस्तूरी दान करें मंदिर मे झंडा चढ़ाएं केतु – ॐ स्रां स्रीं स्रों स: केतवे नम: जप संख्या – 17000x रत्न- वैदूरया( कैट आइ)


Comments

Post
Top