रक्षाबंधन का पर्व, कैसे मनाएं रक्षाबंधन का त्योहार -जानें राखी बांधने की विधि और महत्व

Share

Deepika Maheshwari 02nd Aug 2020

रक्षाबंधन पर बहनें भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए उत्सुक हैं इस बार 3 अगस्त (सोमवार) को राखी का त्योहार मनाया जाएगा. ये त्योहार श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है।

श्रावण में मनाए जाने के कारण इसे श्रावणी भी कहते हैं। इस पावन घड़ी का इंतज़ार हर बहन को रहता है, जब वो अपने भाई की सूनी कलाई पर राखी बांधकर उसकी लंबी उम्र की दुआएं मांगती है। बहन भाई की कलाई पर राखी बांधकर उससे अपनी रक्षा का वचन लेती है।

रक्षाबंधन के दिन दान का विशेष महत्व माना जाता है। आज के दिन रक्षा का दायित्व लेते हुए ढ़ेर सारी शुभकामनाओं के साथ रक्षाबंधन का त्योहार मनाना चाहिए।

रक्षाबंधन 2020 शुभ मुहूर्त और समय

रक्षाबंधन 2020

3 अगस्त, सोमवार 

राखी बांधने का मुहूर्त

09:27:30 से 21:17:03 तक

अवधि

11 घंटे 49 मिनट

रक्षा बंधन अपराह्न मुहूर्त

13:47:39 से 16:28:56 तक

रक्षा बंधन प्रदोष मुहूर्त

19:10:14 से 21:17:03 तक

रक्षाबंधन मनाने की सही विधि------- -रक्षाबंधन के दिन सुबह भोर में उठकर स्नान आदि कर स्वच्छ कपड़े पहनें. -इसके बाद पूजा घर की अच्छे से सफाई करें. -फिर चावल, कच्चे सूत का कपड़ा, सरसों, रोली को एक साथ मिलाकर, पूजा की थाली तैयार करें.

• थाल में रोली, चंदन, अक्षत, दही, रक्षा सूत्र और मिठाई रखें.

• घी का एक दीपक भी रखें, जिससे भाई की आरती करें.

• रक्षा सूत्र और पूजा की थाल सबसे पहले भगवान को समर्पित करें.

• इसके बाद भाई को पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करवाकर बैठाएं

• पहले भाई को तिलक लगाएं, फिर रक्षा सूत्र बांधें और फिर आरती करें दाहिने हाथ पर रक्षा सूत्र बांधें. इसके साथ ही ध्यान रहे कि भाई को तिलक लगाते समय, बहन का मुख भी पश्चिम दिशा की ओर होना चाहिए.

रक्षा सूत्र बांधते समय इस मंत्र का पाठ करना चाहिए- येन बद्धो बलिर्राजा दानवेन्द्रो महाबल:। तेन त्वामभिवध्नामि रक्षे मा चल मा चल:। -इसके पश्चात भाई की आरती उतारें और उसे मिठाई खिलाएं.

• इसके बाद मिठाई खिलाकर भाई की मंगल कामना करें.

• रक्षासूत्र बांधने के समय भाई तथा बहन का सर खुला नहीं होना चाहिए.

• रक्षासूत्र बंधवाने के बाद माता-पिता और गुरु का आशीर्वाद लें, इसके बाद बहन को सामर्थ्य के अनुसार उपहार दें.

• उपहार मैं ऐसी वस्तुएं दें, जो दोनों के लिए मंगलकारी हो, काले वस्त्र तथा तीखा या नमकीन खाद्य न दें.

कैसी होनी चाहिए रक्षासूत्र या राखी?

• रक्षासूत्र तीन धागों का होना चाहिए। • लाल पीला और सफेद। • अन्यथा लाल और पीला धागा तो होना ही चाहिए।

• रक्षासूत्र में चंदन लगा हो तो बेहद शुभ होगा। • कुछ न होने पर कलावा भी श्रद्धा पूर्वक बांध सकते हैं।


Like (79)

Comments

Post

very good


anshmaheshwari

Radhey Radhey


VishwajeetBhutra

good article.vishwajeet bhutra


disha m

happy rakhi


disha m

happy rakshabandhan


Top