Facebook Blogger Youtube

पूजा पाठ में विशेष ध्यान रखने वाली बात

Astro Manoj Gupta 12th Oct 2018

कई देवी देवताओ के पाठ में लेखक दोहो में अपना नाम लिख देता है  है जैसे 

दुर्गा स्तुति पाठ के पहले अध्याय में

 

क्षमा करें विद्वान सब जान मुझे अन्जान |

         चरणों की रज चाहता बालक ' चमन' नादान |

इसी प्रकार

हनुमान चालीसा में एक लाइन आती है :

 

तुलसीदास सदा हरि चेरा  कीजै नाथ हृदय महँ डेरा 

 

आपने बस इतना करना है उनके नाम की जगह अपना नाम लेना है 

 

जैसे  क्षमा करें विद्वान सब जान मुझे अन्जान |

         चरणों की रज चाहता बालक ' मनोज ' नादान 

 

ऐसे ही हनुमान चलिषा में

मनोज  सदा हरि चेरा  कीजै नाथ हृदय महँ डेरा

 

फिर देखिये कमाल


Comments

Post
Top