Facebook Blogger Youtube

कुछ हट हो जायें

29th Jun 2017

~~~~~ कुछ हट हो जायें ~~~~~~
~~~~~~~~~
२७-१०-२०१५ को नकारात्मक तन्त्र प्रयोग का असर को काटने का एक सुझाव रखा था उसके नफा नुकसान पर आज चर्चा कर लेते है।

हमने सलाह रूपी में विचार रखा था कि

१०० ग्राम साबुत लाल मिर्च

१०० ग्राम साबुत चावल

१०० ग्राम खाण्ड देशी

१०० ग्राम हरी मिर्च जिसे इस्तेमाल करते रहना था खत्म होते ही पुनः रखना था ।

१०० गेहूं के दानों को रखने का सुझाव दिया था।

तन्त्र प्रयोग का सबसे घातक शस्त्र होता है बुरी नियत रखना या बुरी नजर से देखना ।
तुला राशि के सूर्य में अधिकांश काल रात्रि आती है। टोने-टोटके करने वाले अपनी नकारात्मक क्रिया पूरे जोश से इसलिये कर पाते है क्योंकि सूर्य की ऊर्जा ही नकारात्मक होती है इस अवस्था में ।

चलो समझते है उक्त पाँच वस्तुओं में से प्रत्येक के पास किसी भी नकारात्मकता को समाप्त करने की एक बराबर अनुपात में क्षमता होती है। जिसके हिसाब से प्रत्येक के पास २० प्रतिशत क्षमता हो जाती है।

अब जिसके रखे पाँचों समान यदि खराब हो गये है। वह यह मान लें कि उसके ऊपर किसी की बुरी नियत व बुरी नजर लगी हुई है। ओर~~~ किसी शत्रु के द्वारा कोई जादू टोना या टोने-टोटके का प्रयोग किया गया है। वह तत्काल ही इन सभी वस्तुओं को पुनः स्थापित कर दे ओर~~~ प्रत्येक ३० दिन में चैक करें ओर~~~ जो खराब हो गया हो उसे पुनः स्थापित करें। तब तक करें जब तक लगातार ४० से ६० दोनों तक वह उचित अवस्था में ना मिले ऎसा करने से किसी प्रकार जादू टोना बरार होता रहेगा । ओउ्म

इसी प्रकार चार हो या तीन या दो खराब हो गयी हैं तो उसे बदल कर दोबारा स्थापित करें ।

कोई एक वस्तु खराब होती है तो वह मात्र नीच के सूर्य की नकारात्मक ऊर्जा का असर है। उसे जादू टोना ना माने।

लेकिन जिसके यहाँ कोई वस्तु खराब नहीं हुई वह मान के कि उसकी ओरा ठीक है व उसे उसके देह त्याग कर चुके पूर्वजों का पुरा प्यार व आर्शिवाद प्राप्त है। उसके सारे-के-सारे ग्रह उसे लाभ दे रहें है।

हरि~~ओउम् इति श्री राधे~~~~

इससे बेहतर उपाय क्या होगा।

तत्वों का सिद्धान्त किसी भी विषय पर सदा शाश्वत पहलू को रखता है।

राधे-राधे जी राधे-राधे राधे~~~~ राधे~~~~ राधे~~~~

" तत्वज्ञ " कुमार प्रवीण
" तत्व धाम " सँवरतें यहाँ सारे काम


Comments

Post
Top