Facebook Youtube Instagra Linkedin Twitter

जन्म के सम वर्षों स्त्री का विषम वर्षों में पुरुष विवाह करना चाहिए।

Share

Astro Ajay Shastri 02nd Jun 2020

🌿जानने योग्य बातें🌿---www.futurestudyonline.com Astro Ajay Shastri 1.-- जन्म के सम वर्षो में स्त्री का व विषम वर्षो में पुरुष का विवाह करना चाहिए।-नारद संहिता। 🌹जानने योग्य बातें-- रविवार, श्राद्ध,संक्रांति, ग्रहण, महादान, तीर्थ, व्रत-उपवास, अमावस्या, षष्ठी तिथि, अथवा अशौच प्राप्त होने पर मनुष्य को गर्म जल से स्नान नहीं करना चाहिए-- शिवपुराण, रूद्र सृष्टि। अधिक लाल, रँगबिरगे, नीले और काले वस्त्र धारण नहीं करना चाहिए।--मार्कण्डेय पुराण, ब्रह्मपुराण,विष्णुधर्मोत्तर। खड़े होकर जल नहीं पीना चाहिए.-स्कन्दपुराण। लक्ष्मी चाहने वाला मनुष्य भोजन और दूध को बिना ढके न छोड़े.-- महाभारत। जो मनुष्य प्रतिदिन प्रातःकाल उठकर गाय, घी, दही, सरसों और राई का स्पर्श करता है, वह पुण्य प्राप्त करता है-- महाभारत। चिता के धुएँ से बचकर रहना चाहिए.-गरुड़पुराण। पद्म पुराण, कूर्मपुराण। रोगी की सेवा करने के समान कोई पुण्य नहीं--याज्ञवल्क्य स्मृति। 2. जो केवल आजीविका प्राप्त करने के लिए पढ़ाई करता है, उसका जीवन निष्फल है।--कूर्म पुराण। 3. तेजस्वी सन्तान चाहने वाले पुरुष व स्त्री को एक पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए-- महाभारत, पद्म पुराण। 4. दो ही पुरुष अपने विपरीत कर्म के कारण शोभा नहीं पाते-- अकर्मण्य गृहस्थ व प्रपंच में लगा हुआ सन्यासी.-- महाभारत। 5 गुरु को बहुत विचार करके ही किसी को शिष्य बनाना चाहिए, अन्यथा शिष्य के दोष के कारण गुरु का पतन होता है-- रुद्रयामल। 6.शालिग्राम, तुलसी और शंख इन तीनों को एक साथ रखने से ईश्वर की कृपा व कार्य सिद्ध होते है.-- ब्रह्मवेवर्तपुराण, शिवपुराण व देवीभागवत। 7. घी का दीपक देवता के दाएं भाग में व तेल का दीपक बाएं भाग में रखना चाहिए.-- मन्त्रमहोदधि। ॐ हरि ॐ🙏🙏 🌷श्री राधे🌷


Comments

Post
Top