Facebook Blogger Youtube

विदेश यात्रा , videsh yatra,forign travel as per astrology

Anil Shrivastava 06th Mar 2019

करीब 1 सप्ताह पहले एक महिला मुझसे यह जानने के लिए आयी थी कि उनका पुत्र जो विदेश जा रहा है उसका जॉब प्रोफाइल कैसा रहेगा। मैंने कुंडली का विश्लेषण किया और पाया कि उस बच्चे की कुंडली में विदेश यात्रा से संबंधित हाउस 3,9 ,12 किसी भी तरह से कनेक्ट ही नहीं हो रहे हैं ऐसी स्थिति में जब तक 3,9 ,12 कनेक्ट नहीं हो उस दशा ,भुक्ति ,अंतरा में जातक का विदेश भ्रमण या यात्रा संभव ही नहीं होती है । मैंने कहा जॉब प्रोफाइल की बात तो बाद में करेंगे फिलहाल तो यह बच्चा विदेश जाएगा ही नहीं तो उनको विश्वास नहीं हुआ वह बोली आप क्या बात कर रहे हैं पासपोर्ट रेडी है वीजा लगने के लिए गया हुआ है एक-दो दिन में ही आ जाएगा और विदेश तो वह जाएगा ही जाएगा तो मैंने कहा जिस दिन जाए उस दिन आप मेरे पास आना मैं बताऊंगा जॉब प्रोफाइल कैसा रहेगा । कल वो फिर मेरे पास आई और बोली आपने एक दम सही कहा उसका वीजा नहीं लगा है और अब वह विदेश नहीं जा रहा । यह है नाड़ी ज्योतिष का विश्लेषण जिसमें घटना से संबंधित हाउस यदि कनेक्ट नहीं हो रहे हैं तो घटना नहीं घटेगी । नाड़ी ज्योतिष में किसी भी घटना का समय निकालने के लिए संबंधित हाउसेस का कनेक्ट होना बहुत आवश्यक होता है अगर यह हाउस कनेक्ट हो गए तो घटना जरूर घटेगी अन्यथा नहीं । इसी तरह किसी भी घटना जिसका हम विश्लेषण कर रहे हैं उससे संबंधित हाउस का कस्पल सब लार्ड यदि पॉजिटिव है तो ही उस घटना के घटने की संभावना होती है। एक बार जब यह निश्चित हो जाए कि यह प्रॉमिस है तो यह जानने के लिए कि घटना का समय क्या होगा हमें विंशोत्तरी दशा का विश्लेषण करना होता है विंशोत्तरी दशा में यदि महादशा उस इवेंट का प्रॉमिस करती है तो आगे हमें अंतर्दशा को पॉजिटिव हो उसका चयन करना होता है तत्पश्चात यह जानने के लिए पॉइंट ऑफ टाइम क्या होगा हमें प्रत्यंतर का विश्लेषण करना चाहिए जो प्रत्यंतर पॉजिटिव हो उसी में घटना घटेगी ।


Comments

Post

Latest Posts