Facebook Youtube Instagra Linkedin Twitter

क्या राहू केतु का परिवर्तन राजस्थान की राजनीती में परिवर्तन लाएगा ?

Share

Archana Kapoor 17th Sep 2017

राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधराराजे जी का पद बढ़ सकता हे इनको केंद्र में बुलाया जा सकता हे और कोई महत्वपूर्ण पद मिल सकता हैं ||

(कुछ पंचाग में राहू सितम्बर में बताया ) लेकिन 12 अक्टुम्बर 2017 से पूर्व सम्भावना है|

 

वसुंधरा राजे की कुंडली (गूगल पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार) --

 

जन्म दिनांक ---8 मार्च 1953 (आयु 64) को 

जन्म स्थान --मुम्बई

राजनैतिक पार्टी---- भारतीय जनता पार्टी

जीवन संगी---- हेमन्त सिंह

आवास---- धौलपुर

धर्म---- हिन्दू धर्म

वेबसाइट--- http://www.vasundhararaje.in/en

==========================================================

वसुंधरा राजे का जन्‍म महाराष्‍ट्र के मुंबई शहर(थाणे)) में 8 मार्च 1953 को दोपहर में 12 बजे |हुआ था। राजे की कर्क लग्‍न की कुण्‍डली है। लग्‍न में केतू और सप्‍तम में राहू स्थित है। वो ग्वालियर राजघराने की पुत्री हैं। उनके पिता का नाम जीवाजीराव सिन्धिया और माँ का नाम विजयाराज सिन्धिया है। वो मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता माधव राव सिंधिया की बहन हैं। उनका विवाह धौलपुर के एक जाट राजघराने में हुआ हैं |

 राजे को 1984 में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल किया गया था। इसके बाद 1985-87 के बीच राजे भाजपा युवा मोर्चा राजस्थान की उपाध्यक्ष रहीं। 1987 में वसुंधरा राजे राजस्थान प्रदेश भाजपा की उपाध्यक्ष बनीं। उनकी कार्यक्षमताविनम्रता और पार्टी के प्रति वफादारी के चलते 1998-1999 में अटलबिहारी वाजपेयी मंत्रिमंडल में राजे को विदेश राज्यमंत्री बनाया गया। वसुंधरा राजे को अक्टूबर 1999 में फिर केंद्रीय मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री के तौर पर स्वतंत्र प्रभार सौंपा गया। भैरोंसिंह शेखावत के उपराष्ट्रपति बनने के बाद उन्हें राजस्थान में भाजपा राज्य इकाई का अध्यक्ष बनी।


Comments

Post
Top